Woh Chand Kaha Se Laogi Lyrics – Vishal Mishra | Urvashi Rautela | Mohsin Khan

Woh Chand Kahan Se Laogi Lyrics वो चाँद कहाँ से लाओगी - Lyrics4yu
Woh Chand Kahan se Laogi new song sung by Vishal Mishra feat. Urvashi Rautela and Mohsin Khan. Music of the song is composed by Vishal Mishra, Woh Chand Kahan Se Laogi lyrics are written by Manoj Muntashir.

Woh Chand Kahan Se Laogi Lyrics

Dil toda to kyun toda
Itna to bata deti
Koyi bahana kar leti
Koyi to wajah deti

Dil toda to kyun toda
Itna to bata deti
Koyi bahana kar leti
Koyi to wajah deti

Jab yaad tumhein main aaunga
Raaton mein bohat ghabraogi

Kya cheez gawa di hai tumne
Yeh soch ke so na paogi
Kya cheez gawa di hai tumne
Yeh soch ke so na paogi

Jo chaand tumhara mera tha
Woh chaand kahan se laogi
Kya cheez gawa di hai tumne
Yeh soch ke so na paogi

Kya kya baatein karti thi
Baahon mein kho ke
Tum jo bichhde mar jaungi
Main ro ro ke

Auron se tum
Dohrati ho jab yeh baatein
Yaad aati hain
Kya mere sang ghuzri raatein

Dekhne wale tumhein to
Honge lakhon mein
Mere jaisa pyar hoga
Kiski aankhon mein

Chahe jitni koshish kar lo
Kisi aur ki ho na paogi

Kya cheez gawa di hai tumne
Yeh soch ke so na paogi
Kya cheez gawa di hai tumne
Yeh soch ke so na paogi

Jo chaand tumhara mera tha
Woh chaand kahan se laogi
Kya cheez gawa di hai tumne
Yeh soch ke so na paogi

Aasmaan tera roshni ko taras jayega
Chand yeh laut kar ab na aayega

Jo chaand tumhara mera tha
Woh chaand kahan se laogi
Kya cheez gawa di hai tumne
Yeh soch ke so na paogi

Barishon mein chhup ke
Jitna roya hoon main
Tumko bhi utna kabhi rona padega
Sirf mera tootna kaafi nahi hai
Tumko bhi to muntashir hona padega


Woh Chand Kahan Se Laogi Lyrics in Hindi

दिल तोडा तो क्यों तोडा
इतना तो बता देती
कोई बहाना कर लेती
कोई तो वजह देती

दिल तोडा तो क्यों तोडा
इतना तो बता देती
कोई बहाना कर लेती
कोई तो वजह देती

जब याद तुम्हें मैं आऊंगा
रातों में बहुत घब्राओगी

क्या चीज़ गवा दे है तुमने
ये सोच के सो ना पाओगी
क्या चीज़ गवा दी है तुमने
ये सोच के सो ना पाओगी

जो चाँद तुम्हारा मेरा था
वो चाँद कहाँ से लाओगी
क्या चीज़ गवा दी है तुमने
ये सोच के सो ना पाओगी

क्या क्या बातें करती थी
बाहों में खो के
तुम जो बिछड़े मर जाउंगी
मैं रो रो के

औरों से तुम
दोहराती हो जब ये बातें
याद आती हैं
क्या मेरे संग गुजरी रातें

देखने वाले तुम्हें तो
होंगे लाखों में
मेरे जैसा प्यार होगा
किसकी आँखों में

चाहे जितनी कोशिश कर लो
किसी एयर की हो ना पाओगी

क्या चीज़ गवा दे है तुमने
ये सोच के सो ना पाओगी
क्या चीज़ गवा दी है तुमने
ये सोच के सो ना पाओगी

जो चाँद तुम्हारा मेरा था
वो चाँद कहाँ से लाओगी
क्या चीज़ गवा दी है तुमने
ये सोच के सो ना पाओगी

आसमां तेरा रौशनी को तरस जायेगा
चाँद ये लौट कर अब ना आएगा

जो चाँद तुम्हारा मेरा था
वो चाँद कहाँ से लाओगी
क्या चीज़ गवा दी है तुमने
ये सोच के सो ना पाओगी

बारिशों में छुप के
जितना रोया हु मैं
तुमको भी उतना कभी रोना पड़ेगा
सिर्फ मेरा टूटना काफी नहीं है
तुमको भी तो मुन्तशिर होना पड़ेगा


Song Info

SongWoh Chand Kahan Se Laogi
SingerVishal Mishra
MusicVishal Mishra

credit:


Muskurayega India Lyrics >>

Kaise Hua Lyrics >>

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Post